Acharya Chanakya policy 2023: ऐसी महिलाएं बना देती हैं जीवन नर्क, करना पड़ता है कठिनाइयों का सामना

Acharya Chanakya policy

Acharya Chanakya policy 2023: ऐसी महिलाएं बना देती हैं जीवन नर्क, करना पड़ता है कठिनाइयों का सामना

Acharya Chanakya policy 2023:- ऐसी स्थिति महिलाओं के लिए जीवन को नरक बना देती है पुराना सिक्का बाजार, डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली: आचार्य चाणक्य की नीति भले ही कठोर हो लेकिन जीवन की सच्चाइयां उनमें कायम रहती हैं।

चाणक्य नीति के अनुसार विवाह को लेकर स्त्री और पुरुष दोनों पक्षों को सावधान रहना चाहिए और काफी सोच-विचार के बाद ही अंतिम निर्णय लेना चाहिए. आचार्य आचार्य ने अपने ग्रंथ ‘चाणक्य नीति’ के पहले अध्याय के 14वें श्लोक में लिखा है कि बुद्धिमान व्यक्ति को कुलीन कुल में कुरूप जन्म लेना चाहिए।

अर्थात् सौन्दर्यहीन कन्या से भी विवाह करें, निंदित कुल में जन्मी सुन्दर कन्या से विवाह न करें। वैसे भी हमारे कुल में शादी समान होनी चाहिए. आचार्य आचार्य का कहना है कि शादी के लिए सुंदर लड़की देखने के चक्कर में लोग लड़की के गुण और गोत्र को नजरअंदाज कर देते हैं।

ऐसी लड़की से विवाह करना सदैव कष्टकारी होता है, क्योंकि कुल की लड़की से विवाह करना सदैव कष्टकारी होता है। उसकी चर्चा, बातचीत या पुनर्मिलन का स्तर भी निम्नतम होगा.

जबकि उच्च और श्रेष्ठ कुल की लड़की का आचरण उसके कुल के अनुसार ही होगा, भले ही वह लड़की कुरूप और सौंदर्यहीन ही क्यों न हो।

आचार्य आचार्य कहते हैं कि घर की कन्या अपने आचरण से कुल का मान बढ़ाएगी, जबकि नीच कुल की कन्या अपने आचरण से कुल का मान कम करेगी।

वैसे भी शादी हमेशा अपने गोत्र में नहीं बल्कि अपने गोत्र में ही करनी चाहिए। यहां ‘कुल’ का मतलब धन-संपदा नहीं बल्कि परिवार का चरित्र है।

Acharya Chanakya policy
Acharya Chanakya policy

चाणक्य नीति के पहले अध्याय के 16वें श्लोक के अनुसार यदि जहर में भी अमृत है तो उसे ग्रहण करना ही बेहतर है। यदि अपवित्र और वास्तुशिल्प भवनों में सोना या बहुमूल्य वस्तुएँ रखी हों तो वह भी उठाने योग्य होती है।

यदि मनुष्य में अच्छाई, कला या सद्गुण नहीं है तो विद्या सीखने में कोई हानि नहीं है। इसी प्रकार यदि दुष्ट कुल में जन्मी स्त्री अच्छे गुणों से युक्त हो तो उसे भी रत्न के समान स्वीकार करना चाहिए।

इस श्लोक में आचार्य गुणों को प्राप्त करने की बात कर रहे हैं। यदि किसी व्यक्ति के पास कोई अच्छा गुण या ज्ञान नहीं है तो उसे उसे सीखना चाहिए यानी हमेशा ऐसा करने का प्रयास करना चाहिए।

जहां भी उसे कोई अच्छी चीज मिले, अच्छे गुण और कला सीखने का मौका मिले तो उसे जाने नहीं देना चाहिए। जहर में अमृत और गंदगी में सोना से लेकर समुद्र तट के गुण तक।

वहीं एक अन्य श्लोक में आचार्य चणक ने लिखा है कि पुरुषों का आहार दोगुना, बुद्धि चौगुनी, साहस छह गुना और कामवासना आठ गुना होती है।

इस श्लोक में आचार्य ने स्त्रियों के कई कार्य बताए हैं। ये महिलाओं के ऐसे पहलू हैं, जो आमतौर पर लोगों को नजर नहीं आते।

निष्कर्ष – Acharya Chanakya policy 2023

इस तरह से आप अपना Acharya Chanakya policy 2023 में आवेदन कर सकते हैं, अगर आपको इससे संबंधित और भी कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं |

दोस्तों यह थी आज की Acharya Chanakya policy 2023 के बारें में सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में आपको Acharya Chanakya policy 2023 , इसकी सम्पूर्ण जानकारी बताने कोशिश की गयी है |

ताकि आपके Acharya Chanakya policy 2023 से जुडी जितने भी सारे सवालो है, उन सारे सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल सके |

तो दोस्तों कैसी लगी आज की यह जानकारी, आप हमें Comment box में बताना ना भूले, और यदि इस आर्टिकल से जुडी आपके पास कोई सवाल या किसी प्रकार का सुझाव हो तो हमें जरुर बताएं |

और इस पोस्ट से मिलने वाली जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी Social Media Sites जैसे- Facebook, twitter पर ज़रुर शेयर करें |

ताकि उन लोगो तक भी यह जानकारी पहुच सके जिन्हें Acharya Chanakya policy 2023 की जानकारी का लाभ उन्हें भी मिल सके|

Source:- Internet

Home page Click Here
Join Telegram Click Here
x
Mera Bill Mera Adhikar Scheme 2023: मेरा बिल मेरे अधिकार योजना शुरू, ऐसे करें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन मिलेगा लाखों का इनाम Navodaya Vidyalaya Recruitment New Update 2023: 78000 क्लर्क, चपरासी, ऑपरेटर पदों पर भर्ती, 10वीं 12वीं पास करें आवेदन Student Scholarship Yojana : छात्रों को हर साल सरकार देगी 20000 रुपये , जल्दी करें आवेदन और जाने पूरी जानकरी CISF Bharti 2023 : सीआईएसफ में 11025 पदों पर 10वीं पास के लिए निकली भर्ती आवेदन शुरू ISRO New Online Courses With Certificate 2023: इसरो के नये ऑनलाइन कोर्सेज हुए लांच, जाने क्या है पूरी रिपोर्ट