BEd vs BTC Supreme court New Update:- बीएड को लेकर अच्छी खबर यह है कि बीएड को प्राइमरी में शामिल कर लिया गया है।

BEd vs BTC Supreme court New Update

BEd vs BTC Supreme court New Update: बीएड को लेकर अच्छी खबर यह है कि बीएड को प्राइमरी में शामिल कर लिया गया है।

BEd vs BTC Supreme court New Update मामले को लेकर एक अच्छी खबर है, इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में पहले ही पूरी हो चुकी है और दोनों पक्षों की ओर से फाइनल सबमिशन 20 जनवरी तक पूरा हो चुका है, सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है. रखा था, लेकिन अब कुछ राज्यों ने बीएड को लेकर प्राइमरी में जगह दे दी है, BEd vs BTC Supreme court New Update

कुछ राज्य सरकारों द्वारा प्राथमिक शिक्षक भर्ती में बीएड को शामिल किया गया है, इस मामले की सुनवाई लंबे समय से सुप्रीम कोर्ट में चल रही है. इसके चलते उत्तर प्रदेश में भी बीएड अभ्यर्थियों के टीईटी के प्रमाणपत्रों पर रोक लगा दी गई थी। बीएड परीक्षार्थियों के रिजल्ट पर यूपीटीईटी प्रमाण पत्र बांटने का आदेश हाईकोर्ट ने दिया था। BEd vs BTC Supreme court New Update

Bed बनाम बीटीसी मामला ताजा खबर आज

बीएड के संबंध में पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा प्राथमिक शिक्षक भर्ती में बीएड के सभी अभ्यर्थियों को शामिल किया गया था और पश्चिम बंगाल सरकार ने प्राथमिक शिक्षक की भर्ती पूरी कर ली है, इसके साथ ही और भी कई राज्य सरकारों ने बीएड शुरू कर दिया है ।

प्राथमिक शिक्षक भर्ती में अभ्यर्थियों को शामिल किया गया है, अब केवल बीएड अभ्यर्थियों के पक्ष में फैसला बाकी है, बीएड अभ्यर्थियों की पूरी खबर पढ़ने के लिए बीएड एवं बीटीसी मामले के ताजा अपडेट लिंक पर पढ़ें नीचे दिया गया।

बेड बनाम बीटीसी सुप्रीम कोर्ट अपडेट

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सुप्रीम कोर्ट में चल रहा बीटीसी बीएड का मामला राजस्थान का है. लेकिन यहां एनसीटीई और एमएचआरडी भी शामिल है, इसलिए एनसीटीई एमएचआरडी द्वारा बनाए गए नियमों के अनुसार सभी राज्यों में शिक्षक भर्ती की जाती है।

BEd vs BTC Supreme court New Update
BEd vs BTC Supreme court New Update

ऐसे में बीएड बीटीसी पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला होगा, वह सभी राज्यों पर लागू होगा। मामला यह है कि बीटीसी अभ्यर्थी चाहते हैं कि प्राथमिकी में बीएड को शामिल न किया जाए। क्योंकि बीटीसी अभ्यर्थियों की संख्या काफी है। इसी वजह से यह मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है. अब सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि प्राइमरी में बीएड वैध है या नहीं। BEd vs BTC Supreme court New Update

BEd btc supreme court विवाद को लेकर क्या है नया अपडेट

बीएड और बीटीसी मामले को लेकर बड़ी खबर आई है। बेड बीटीसी विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट से आदेश जारी हो चुका है।

आपको बता दें कि पिछली सुनवाई 12 जनवरी को हुई थी और आदेश 12 जनवरी को सुरक्षित रखा गया था. आदेश अब सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया है. जिसमें बताया गया है कि 20 जनवरी 2023 तक सभी पक्षकार लिखित में अपना पक्ष सुप्रीम कोर्ट में पेश करें. इसके बाद 90 दिन के अंदर सुप्रीम कोर्ट फैसला सुनाएगा। अब बात आती है कि इस मामले में कौन जीत रहा है और कौन हार रहा है, जानने के लिए पोस्ट को पढ़ते रहें।

बीडीएस और बीटीसी में कौन लड़ रहा है

बता दें कि बीएड और बीटीसी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने जो आदेश जारी किया है, यह आदेश केवल लिखित जमा करने के लिए है। जिसमें बताया गया है कि 20 जनवरी तक बीएड और बीटीसी में शामिल सभी पक्ष अपने सभी मिशन लिखित रूप में जमा करें।

ऐसे में अभी यह तय नहीं हो पाया है कि बेड बीटीसी में कौन जीत रहा है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट का आदेश 20 जनवरी के बाद कभी भी जारी हो सकता है। सुप्रीम कोर्ट का आदेश जब भी जारी होगा, उसमें इस बात का जिक्र होगा कि बीएड प्राइमरी में वैध है या नहीं। अगर आप बीएड और बीटीसी के छात्र हैं तो हमारे व्हाट्सएप टेलीग्राम ग्रुप से जरूर जुड़ें।

Source:- Internet

Join telegram Click here
Home page Click here
x
मात्र 22000 में लॉन्च हुई 81KM माइलेज वाली Hero Splendor Plus की ब्रांडेड फीचर्स वाली बाइक 1 अप्रैल से बढ़ेगी गैस सब्सिडी की ₹ 300 रुपय, जाने क्या है करोड़ो लोगों को फायदा अब तक का सबसे सस्ता 5G स्मार्टफोन 2 अप्रैल को होगा भारत में लॉन्च एयरटेल-गूगल देंगे स्टारलिंक को टक्कर, कैसे काम करता है लेजर इंटरनेट, क्या होगी स्पीड पटना यूनिवर्सिटी मे 1 साल फिर से प्रवेश परीक्षा पर होगा दाखिला, जाने क्या पूरी रिपोर्ट