Indian Currency in Nepal:- नेपाल में कम हुई भारतीय मुद्रा, जानिए नेपाल में 100 रुपये के बदले मिल रहे कितने नेपाली रुपये?

Indian Currency in Nepal

Indian Currency In Nepal:- नेपाल में कम हुई भारतीय मुद्रा, जानिए नेपाल में 100 रुपये के बदले मिल रहे कितने नेपाली रुपये?

Indian Currency:-नेपाल में भारतीय मुद्रा दर: भारत और नेपाल के बीच बेटी-रोटी का व्यापारिक संबंध है, भारत से बड़ी संख्या में लोग पर्यटन और व्यापार के सिलसिले में नेपाल जाते हैं। आमतौर पर नेपाल में भी आप भारतीय करेंसी से अपना काम चला सकते हैं.

Indian Currency in Nepal
Indian Currency in Nepal

लेकिन इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आई है जहां नेपाल में भारतीय करेंसी का चलन पूरी तरह से बंद कर दिया गया है. इसके साथ ही नेपाल में भारतीय रुपये की कीमत दिन-ब-दिन कम होती जा रही है, जिससे भारत से नेपाल जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है।

भारतीय मुद्रा कीमत

पहले एक सौ भारतीय रुपये के लिए 160 से 162 नेपाली नोट दिए जाते थे, जो अब घटकर 140 से 150 नेपाली नोट हो गए हैं। साथ ही भारतीय लोगों को मनमानी का सामना करना पड़ता है, उन्हें कम कीमत पर जो मिल जाता है उसी में संतुष्ट रहना पड़ता है।

मिली जानकारी के मुताबिक भारत-नेपाल सीमा क्षेत्र में भारतीय 1000 रुपये के 1500 रुपये चल रहे हैं यानी कुल मिलाकर भारतीय 1000 रुपये नेपाली 1600 रुपये के बराबर होंगे. यानी सीमा क्षेत्र में ही 100 का नुकसान.

आपको बता दें कि पहले भारतीयों को 500 रुपए के बदले 800 नेपाली नोट मिलते थे, जो अब घटकर 700 से 750 नेपाली नोट रह गए हैं। नेपाल में भारत के इस नोटबंदी के नोटिस को पेट्रोल पंपों, दुकानों और सरकारी दफ्तरों में चिपका दिया गया है.

वहीं, नेपाल के सुदूर पहाड़ी इलाकों में भारतीय 1000 रुपये की कीमत नेपाली 1000 से 1200 रुपये के बीच चल रही है, जिससे भारतीय पर्यटकों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है.

भंसार कार्यालय के लिए भी नेपाली नोट

आपको बता दें कि नेपाल में भारतीय वाहनों के प्रवेश के लिए वाहन का भंसार लेना अनिवार्य है। पहले नेपाल में प्रवेश से पहले भंसार कार्यालय में भारतीय मुद्रा में भुगतान लिया जाता था, लेकिन अब भंसार कार्यालय में भी नेपाली मुद्रा यानी नेपाली नोट के जरिये भुगतान लिया जा रहा है.

सरकार के इस फैसले से बिचौलियों की चांदी हो गई है, भारतीय कम दर पर रुपये बदलने को मजबूर हैं, उन्हें 500 रुपये की जगह 700 से 750 रुपये ही मिल रहे हैं.

भारत में नोटबंदी का असर धार्मिक स्थलों और कारोबार पर भी पड़ा

भारतीय नागरिक हिलेसी शिव मंदिर, जनकपुर काठमांडू, नेपाल में पशुपतिनाथ महादेव के दर्शन के लिए नेपाल आते रहते हैं। लेकिन नेपाल में भारतीय नोट बंद होने से श्रद्धालुओं को भारी नुकसान भी उठाना पड़ रहा है. उन्हें समान प्राप्त करने के लिए कम दरों पर मुद्रा का आदान-प्रदान करना पड़ता है।

इससे व्यापार में भी घाटा हो रहा है। इस समस्या का कारण क्या है यह कोई नहीं जानता. जयनगर चैंबर ऑफ कॉमर्स के महासचिव वही बरोलिया कहते हैं कि इस साल जनवरी-फरवरी तक स्थिति सामान्य थी, इन तीन-चार महीनों में नेपाल और भारत सरकार के बीच न जाने क्या बातचीत और समझौते हुए, जिससे वहां भारतीय मुद्रा का प्रचलन शून्य हो गया है.

निष्कर्ष – Indian Currency in Nepal

इस तरह से आप अपना Indian Currency in Nepal में आवेदन कर सकते हैं, अगर आपको इससे संबंधित और भी कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं |

दोस्तों यह थी आज की Indian Currency in Nepal के बारें में सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में आपको Indian Currency in Nepal , इसकी सम्पूर्ण जानकारी बताने कोशिश की गयी है |

ताकि आपके Indian Currency in Nepal से जुडी जितने भी सारे सवालो है, उन सारे सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल सके |

तो दोस्तों कैसी लगी आज की यह जानकारी, आप हमें Comment box में बताना ना भूले, और यदि इस आर्टिकल से जुडी आपके पास कोई सवाल या किसी प्रकार का सुझाव हो तो हमें जरुर बताएं |

और इस पोस्ट से मिलने वाली जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी Social Media Sites जैसे- Facebook, twitter पर ज़रुर शेयर करें |

ताकि उन लोगो तक भी यह जानकारी पहुच सके जिन्हें Indian Currency in Nepal की जानकारी का लाभ उन्हें भी मिल सके|

Source:- Internet

Home Pagenew
Click Here
Join TelegramnewClick Here
x
मात्र 22000 में लॉन्च हुई 81KM माइलेज वाली Hero Splendor Plus की ब्रांडेड फीचर्स वाली बाइक 1 अप्रैल से बढ़ेगी गैस सब्सिडी की ₹ 300 रुपय, जाने क्या है करोड़ो लोगों को फायदा अब तक का सबसे सस्ता 5G स्मार्टफोन 2 अप्रैल को होगा भारत में लॉन्च एयरटेल-गूगल देंगे स्टारलिंक को टक्कर, कैसे काम करता है लेजर इंटरनेट, क्या होगी स्पीड पटना यूनिवर्सिटी मे 1 साल फिर से प्रवेश परीक्षा पर होगा दाखिला, जाने क्या पूरी रिपोर्ट