Legal Rights 2023: क्या कानून ने पुलिस को थप्पड़ मारने की इजाजत दी है? जानकर नहीं होगा आपको यकीन

Legal Rights

Legal Rights 2023: क्या कानून ने पुलिस को थप्पड़ मारने की इजाजत दी है? जानकर नहीं होगा आपको यकीन

Legal Rights: संविधान की रक्षा करना पुलिस का पहला कर्तव्य है, लेकिन कभी-कभी वे अपने कर्तव्य को अच्छी तरह से नहीं निभाते हैं। इस वजह से देश में कई लोगों को पुलिसवालों पर भरोसा नहीं है। कानून कुछ ऐसी चीजों के बारे में बात करता है जो पुलिसकर्मी चाहकर भी नहीं कर सकते, लेकिन फिर भी उनका दुरुपयोग करते हैं

Legal Rights: मैं यहां यह नहीं कह रहा हूं कि सभी पुलिसकर्मी एक जैसे होते हैं, लेकिन कई बार पुलिस अधिकारियों को अपनी गलतियों के कारण अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है। आपने भी देखा होगा कि पुलिस को किसी व्यक्ति को थप्पड़ मारते या पीटते देखा गया है। इस वजह से कुछ लोगों के मन में यह सवाल उठ सकता है कि क्या कानून पुलिस को थप्पड़ मारने की इजाजत देता है।

Legal Rights
Legal Rights

क्या पुलिस किसी अपराधी को थप्पड़ मार सकती है?

Legal Rights: सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कुछ ऐसे वीडियो वायरल होते हैं जिसमें पुलिस अधिकारी वो करते नजर आते हैं जो उन्हें करने की इजाजत नहीं है. आपने कई बार देखा होगा कि पुलिस अपराधी को थप्पड़ मार देती है, लेकिन भारतीय संविधान उन्हें ऐसा करने की इजाजत नहीं देता है। अगर कोई पुलिस अधिकारी ऐसा कर रहा है तो वह कानून के खिलाफ जा रहा है।

Legal Rights: पुलिस अधिकारियों को लोगों के बीच जाने की आवश्यकता होती है और गलत कामों को रोकना उनका कर्तव्य है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे किसी को थप्पड़ मार दें। भारतीय संविधान के तहत अपराधी चाहे कितना भी बड़ा क्यों न हो, उसे पीटने की इजाजत नहीं है। यदि कोई पुलिसकर्मी आपको थप्पड़ मारता है, तो आप इसकी रिपोर्ट कर सकते हैं

पुलिस वाले के खिलाफ FIR दर्ज करें

Legal Rights: अगर कोई पुलिस अधिकारी आपके साथ दुर्व्यवहार करता है या थप्पड़ मारता है, तो आप एफआईआर के माध्यम से उस पुलिस अधिकारी के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं। अगर आप ऐसा करते हैं तो उस अधिकारी के खिलाफ आईपीसी की धारा 506, 323, 330 और 504 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

एक बहुत ही सरल जवाब है, क्योंकि हम हमें यह सब करने की स्वतंत्रता देते हैं। आप देखते हैं कि कोई भी उनके खिलाफ लड़ने की कोशिश नहीं करता है। वे बस इसे अनदेखा करते हैं और इस प्रकार इस प्रकार के मानसिक रूप से बीमार पुलिस वाले को यह सब करने का मौका मिलता है।

Legal Rights: जब लोग इस तरह के मामले को लेकर एफआईआर दर्ज कराने जाते हैं तो कई बार पुलिसवाले ऐसा करने से मना कर देते हैं। अगर आपके साथ ऐसा होता है तो आप डीएम से संपर्क कर सकते हैं। कुछ लोग सोच सकते हैं कि जिला मजिस्ट्रेट के खिलाफ शिकायत कहां दर्ज की जाए अगर उनके साथ खुद जिला मजिस्ट्रेट द्वारा दुर्व्यवहार किया गया है। तो इसके लिए आपको पुलिस स्टेशन जाना होगा और उस डीएम के खिलाफ एफआईआर दर्ज करानी होगी

निष्कर्ष – Legal Rights: 

इस तरह से आप अपना Legal Rights में आवेदन कर सकते हैं, अगर आपको इससे संबंधित और भी कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं |

दोस्तों यह थी आज की Legal Rights के बारें में सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में आपको Legal Rights , इसकी सम्पूर्ण जानकारी बताने कोशिश की गयी है |

ताकि आपके Legal Rights से जुडी जितने भी सारे सवालो है, उन सारे सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल सके |

तो दोस्तों कैसी लगी आज की यह जानकारी, आप हमें Comment box में बताना ना भूले, और यदि इस आर्टिकल से जुडी आपके पास कोई सवाल या किसी प्रकार का सुझाव हो तो हमें जरुर बताएं |

और इस पोस्ट से मिलने वाली जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी Social Media Sites जैसे- Facebook, twitter पर ज़रुर शेयर करें |

Source:- Internet

Home page New
Click here 
Join telegram NewClick here
x
मात्र 22000 में लॉन्च हुई 81KM माइलेज वाली Hero Splendor Plus की ब्रांडेड फीचर्स वाली बाइक 1 अप्रैल से बढ़ेगी गैस सब्सिडी की ₹ 300 रुपय, जाने क्या है करोड़ो लोगों को फायदा अब तक का सबसे सस्ता 5G स्मार्टफोन 2 अप्रैल को होगा भारत में लॉन्च एयरटेल-गूगल देंगे स्टारलिंक को टक्कर, कैसे काम करता है लेजर इंटरनेट, क्या होगी स्पीड पटना यूनिवर्सिटी मे 1 साल फिर से प्रवेश परीक्षा पर होगा दाखिला, जाने क्या पूरी रिपोर्ट