Property knowledge 2023: जमीन रजिस्ट्री कराते समय बचा सकते हैं ढेर सारा पैसा, जानिए कैसे?

Property knowledge

Property knowledge 2023: जमीन रजिस्ट्री कराते समय बचा सकते हैं ढेर सारा पैसा, जानिए कैसे?

Property knowledge: जब भी हम कोई जमीन या प्लॉट खरीदते हैं, तो हम उसके मालिक नहीं होते हैं, जब तक कि हमारे पास उसके नाम पर रजिस्ट्री न हो। कानूनी प्रक्रिया के अनुसार जमीन की रजिस्ट्री होना बहुत जरूरी है।

Property knowledge: जब रजिस्ट्री इतनी जरूरी हो गई है तो आपको यह भी पता होना चाहिए कि अगर कोई व्यक्ति अपने नाम पर रजिस्ट्री करवाता है तो इसके लिए उसे काफी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। और उसे घर या अपने प्लॉट की कीमत का 4% से 5% तक खर्च करना पड़ता है

Property knowledge
Property knowledge
  • हममें से ज्यादातर लोग जमीन की रजिस्ट्री कराते समय इस चार से पांच प्रतिशत खर्च को बचाना चाहते हैं।
  • हालांकि, कुछ लोगों को लग सकता है कि चार से पांच फीसदी बहुत कम है, लेकिन उदाहरण के लिए मान लीजिए कि आप एक करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं
  • अगर आपको इसे रजिस्टर कराना है तो आपको करीब ₹5 से ₹7 लाख अतिरिक्त खर्च करने होंगे।
  • अब सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि इस खर्च को कैसे कम किया जाए। तो इसका सबसे अच्छा तरीका यह है कि जब भी कोई प्रॉपर्टी खरीदे तो उसे पुरुष के नाम की जगह महिला के नाम पर ही खरीदें।
  • यदि कोई संपत्ति खरीदी जाती है, तो ऐसे राज्य हैं जहां स्टाम्प ड्यूटी और पंजीकरण शुल्क में भारी छूट दी जाती है।
  • उदाहरण के तौर पर दिल्ली और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में आपको महिला के नाम पर प्रॉपर्टी खरीदने पर सिर्फ दो से तीन फीसदी टैक्स देना होता है।
  • इस तरीके का इस्तेमाल करते हुए अगर आप किसी रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री कराते हैं तो आपको करीब दो से ढाई लाख रुपये तक की टैक्स छूट भी मिल सकती है।

महिला खरीदारों को रिबेट

Property knowledge: अगर कोई महिला ज्वाइंट या सिंगल परचेज में प्रॉपर्टी खरीदने में शामिल होती है तो कई राज्यों में स्टांप ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन चार्ज से छूट मिलती है। इसमें हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान और उत्तर प्रदेश शामिल हैं। दिल्ली सरकार के मुताबिक, अगर कोई जमीन किसी पुरुष के नाम पर रजिस्टर्ड है तो उस पर 6 फीसदी और महिला के नाम पर 4 फीसदी रजिस्ट्री चार्ज देना होता है। इससे आप रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी के रजिस्ट्रेशन पर होने वाले खर्च पर साल में अधिकतम 1.5 लाख टैक्स बचा सकते हैं।

स्थानीय स्टाम्प अधिनियम के लाभ

Property knowledge: जमीन राज्य का विषय है, इसलिए रजिस्ट्री से होने वाली कमाई भी राज्य की ही होती है। प्रत्येक राज्य का कानून दूसरे से अलग हो सकता है। इसलिए रजिस्ट्री से पहले एक बार उस राज्य का स्टांप एक्ट जान लें। कई बार राज्य सरकार द्वारा पंजीकरण शुल्क कम कर दिया जाता है। उसी समय पंजीकरण करें जब इसे छूट दी जा रही है। महाराष्ट्र, पंजाब और उत्तर प्रदेश में अगर संपत्ति किसी रक्त संबंधी को उपहार में दी जाती है तो स्टांप शुल्क नहीं लगाया जाता है। इस नियम का ध्यान रखकर आप रजिस्ट्रेशन चार्ज बचा सकते हैं।

निष्कर्ष – Property knowledge : 

इस तरह से आप अपना Property knowledge में आवेदन कर सकते हैं, अगर आपको इससे संबंधित और भी कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं |

दोस्तों यह थी आज की Property knowledge के बारें में सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में आपको Property knowledge , इसकी सम्पूर्ण जानकारी बताने कोशिश की गयी है | ताकि आपके Property knowledge से जुडी जितने भी सारे सवालो है, उन सारे सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल सके |

तो दोस्तों कैसी लगी आज की यह जानकारी, आप हमें Comment box में बताना ना भूले, और यदि इस आर्टिकल से जुडी आपके पास कोई सवाल या किसी प्रकार का सुझाव हो तो हमें जरुर बताएं | और इस पोस्ट से मिलने वाली जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी Social Media Sites जैसे- Facebook, twitter पर ज़रुर शेयर करें |

Source:- Internet

Home page New
Click here 
Join telegram NewClick here 
x
मात्र 22000 में लॉन्च हुई 81KM माइलेज वाली Hero Splendor Plus की ब्रांडेड फीचर्स वाली बाइक 1 अप्रैल से बढ़ेगी गैस सब्सिडी की ₹ 300 रुपय, जाने क्या है करोड़ो लोगों को फायदा अब तक का सबसे सस्ता 5G स्मार्टफोन 2 अप्रैल को होगा भारत में लॉन्च एयरटेल-गूगल देंगे स्टारलिंक को टक्कर, कैसे काम करता है लेजर इंटरनेट, क्या होगी स्पीड पटना यूनिवर्सिटी मे 1 साल फिर से प्रवेश परीक्षा पर होगा दाखिला, जाने क्या पूरी रिपोर्ट