RBI Loan Rule 2024 : जो लोग नहीं चुका पाते समय पर लोन उनके लिए वरदान बना आरबीआई का ये नियम, जानें पूरी अपडेट

RBI Loan Rule

RBI Loan Rule 2024 : जो लोग नहीं चुका पाते समय पर लोन उनके लिए वरदान बना RBI का ये नियम, जानें पूरी अपडेट

RBI Loan Rule 2024 : RBI ने बैंकों की मनमानी पर लगाम लगाने के लिए 12 बिंदुओं का नया ड्राफ्ट तैयार किया है। इस मसौदे में दंड शुल्क को केंद्र में रखा गया है।कई लोन प्राप्तकर्ताओं ने इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी, जिस पर अब RBI ने कार्रवाई की है।

इस मसौदे पर बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों और आवास वित्त कंपनियों से 15 मई 2023 तक सुझाव मांगे गए हैं। अगर नए नियम लागू होते हैं तो इसका फायदा डायरेक्ट लोन लेने वाले लोगों को मिलेगा।

RBI Loan Rule
RBI Loan Rule

जो लोग नहीं चुका पाते समय पर लोन उनके लिए वरदान बना RBI का ये नियम

RBI Loan Rule 2024 : RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने फरवरी में मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए कहा था कि इस संबंध में दिशानिर्देश जल्द ही जारी किए जाएंगे।अब बात करते हैं कि दंड शुल्क क्या है। जब आप किसी बैंक या अन्य रेगुलेटेड वित्तीय संस्थान से लोन लेते हैं तो आपको हर महीने एक निश्चित किस्त यानी ईएमआई जमा करनी होती है।

चूक या क्षतिपूर्ति में देरी के मामले में, ऋण देने वाली संस्था एक दंड ता्मक शुल्क लगाती है। यह एक तरह का जुर्माना है जो लोगों को समय पर भुगतान करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए लगाया जाता है।

बैंक क्या कर रहे हैं?

RBI ने पाया है कि बैंकों ने इसे दंडात्मक ब्याज के रूप में लेना शुरू कर दिया है, न कि दंड शुल्क के रूप में। बैंक ब्याज के रूप में जुर्माना वसूल रहे हैं और वह ब्याज भी चक्रवृद्धि तरीके से बढ़ता है।

इससे कर्ज लेने वाला कर्ज के जाल में फंस जाता है। जबकि RBI का स्पष्ट निर्देश है कि जुर्माने का मकसद राजस्व जुटाना नहीं है। बैंक ठीक यही कर रहे हैं। उन्होंने इसे अपनी आय का स्रोत बना लिया है।

नए मसौदे से क्या बदलेगा?

RBI Loan Rule 2024 : RBI की ओर से जारी नए मसौदे के मुताबिक, बैंक अब ‘दंडात्मक ब्याज’ के तौर पर जुर्माना नहीं वसूल सकेंगे। फिलहाल बैंक कंपाउंडिंग इंटरेस्ट के हिसाब से जुर्माना वसूलता है।इसे सीधे जुर्माने के तौर पर लिया जाएगा। साथ ही ग्राहकों को यह भी बताना होगा कि पेनाल्टी चार्ज से जुड़े नियम या शर्तें क्या हैं।

इसके अलावा, बैंकों के पास ऋण दंड शुल्क या ऐसे किसी अन्य शुल्क के बारे में अपने बोर्ड से अनुमोदित नीति होनी चाहिए।  इससे ग्राहकों और वित्तीय संस्थानों के बीच विवाद कम होने की उम्मीद है।

इससे ये होता है फायदा-

RBI Loan Rule 2024 : लोन की रीस्ट्रक्चरिंग लोगों के लिए बेहतर option है, क्योंकि इससे उन पर से लोन डिफॉल्टर टैग हटाने में मदद मिलती है। जब कोई व्यक्ति लोन चुकाने में डिफॉल्ट करता है तो उसकी credit history खराब हो जाती है। इससे cibil score भी गिर सकता है, जिससे भविष्य में लोन लेने का रास्ता बंद हो सकता है। कोई भी बैंक लोन देने से पहले एक बार आपका cibil score चेक करता है। अगर यह अपने मानक के मुताबिक हो, तभी वह लोन मंजूर करता है। अन्यथा, ऋण राशि अस्वीकार कर दी जाती है।

निष्कर्ष – RBI Loan Rule 2024

इस तरह से आप अपना RBI Loan Rule 2024 से संबंधित और भी कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं

दोस्तों यह थी आज की RBI Loan Rule 2024 के बारें में सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में आपको इसकी सम्पूर्ण जानकारी बताने कोशिश की गयी है

ताकि आपके RBI Loan Rule 2024 से जुडी जितने भी सारे सवालो है, उन सारे सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल सके|

तो दोस्तों कैसी लगी आज की यह जानकारी, आप हमें Comment box में बताना ना भूले, और यदि इस आर्टिकल से जुडी आपके पास कोई सवाल या किसी प्रकार का सुझाव हो तो हमें जरुर बताएं |

और इस पोस्ट से मिलने वाली जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी Social Media Sites जैसे- Facebook, twitter पर ज़रुर शेयर करें |

ताकि उन लोगो तक भी यह जानकारी पहुच सके जिन्हें RBI Loan Rule 2024 की जानकारी का लाभ उन्हें भी मिल सके|

Source:- Internet

Home Page new
Click Here
Join Telegram newClick Here
x
मात्र 22000 में लॉन्च हुई 81KM माइलेज वाली Hero Splendor Plus की ब्रांडेड फीचर्स वाली बाइक 1 अप्रैल से बढ़ेगी गैस सब्सिडी की ₹ 300 रुपय, जाने क्या है करोड़ो लोगों को फायदा अब तक का सबसे सस्ता 5G स्मार्टफोन 2 अप्रैल को होगा भारत में लॉन्च एयरटेल-गूगल देंगे स्टारलिंक को टक्कर, कैसे काम करता है लेजर इंटरनेट, क्या होगी स्पीड पटना यूनिवर्सिटी मे 1 साल फिर से प्रवेश परीक्षा पर होगा दाखिला, जाने क्या पूरी रिपोर्ट